• Mon. Aug 15th, 2022

: पेशावर के एक मदरसे में बम धमाका, 7 छात्रों की मौत, 50 से ज्यादा घायल

Bysarvesh sharma

Oct 27, 2020

newsnation24desk

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी वक़ार अज़ीम ने बताया कि पश्चिमी इस्लामाबाद से 170 किमी दूर पेशावर के एक मदरसे में यह धमाका हुआ है. उस वक्त वहां 60 से ज्यादा लोग कक्षाएं ले रहे थे.

खास बातें

  • पेशावर के एक मदरसे में बम धमाका
  • परिसर में कोई बैग लेकर घुस आया था
  • 7 की मौत, 50 से ज्यादा घायल हैं

पेशावर:  के एक उत्तरी-पश्चिमी इलाके में मंगलावर को एक धार्मिक स्कूल में कुरान की कक्षा पर हुए बम धमाके में सात छात्रों की मौत हो गई है. एक अधिकारी ने बताया कि इस धमाके में और भी कई घायल हुए हैं. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी वक़ार अज़ीम ने बताया कि पश्चिमी इस्लामाबाद से 170 किमी दूर पेशावर के एक मदरसे में यह धमाका हुआ है. उस वक्त वहां 60 से ज्यादा लोग कक्षाएं ले रहे हैं.

वक़ार अजम ने बताया, ‘ब्लास्ट क़ुरान की एक कक्षा के दौरान हुआ है. कोई मदरसे के अंदर एक बैग लेकर घुस आया था.’ उन्होंने बताया कि जो भी बैग लेकर आया था, ब्लास्ट के पहले ही लेक्चर हॉल से निकल गया था. एक अन्य वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मोहम्मद अली गांदापुर ने बताया कि इस हमले में कम से कम सात लोगों की मौत हुई है और 50 से ज्यादा लोग घायल हैं एक स्थानीय अस्पताल के प्रवक्ता मोहम्मद असीम खान ने मौतों के आंकड़े की पुष्टि की है. उन्होंने यह भी बतया कि अस्पताल में सात शव और 70 घायल लोगों को लाया गया है. उन्होंने कहा, ‘जिनकी मौत हुई है, या जो घायल हैं, उनमें से ज्यादा को बॉल बियरिंग्स से चोटें आई हैं और कुछ बुरी तरह से जल गए हैं.’ असीम खान ने बताया कि मृतक छात्रों की उम्र 20 से 40 के बीच है. वहीं घायल होने वाले लोगों में शिक्षक और 7 साल की उम्र तक के छात्र शामिल हैं

अभी तक इस धमाके की जिम्मेदारी किसी भी आतंकवादी संगठन ने नहीं ली है. पाकिस्तान में कई महीनों की अपेक्षाकृत शांति के बाद फिर ऐसी घटना सामने आई है. पेशावर वहां पर कभी आतंकी गतिविधियों का केंद्र हुआ करता था. अफग़ानिस्तान के उत्तरी-पश्चिमी सीमा से लगने वाले इस इलाके में अकसर जिहादी संगठन सुरक्षाबलों और सार्वजनिक जगहों को निशाना बनाते रहते थे.

पिछले कुछ सालों में पाकिस्तान में सीमाओं पर मिलिट्री ऑपरेशन चलाने के चलते यहां आतंकी हिंसा में कमी आई है, लेकिन फिर भी आतंकवादी संगठन कभी-कभी ऐसे घातक हमले करने में कामयाब हो रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.