• Mon. Aug 15th, 2022

हमारी बेटियों को संस्कार के साथ साथ शस्त्र चलाना भी आना चाहिए-राधा दीदी

Bysarvesh sharma

Oct 24, 2020

newsnation24desk

मातृशक्ति और दुर्गा वाहिनी की बहनों द्वारा किया गया शस्त्र पूजन

तेजभान सिंह राघव-मुरादाबाद

बिलारी । मातृशक्ति और दुर्गा वाहिनी विश्व हिंदू परिषद मुरादाबाद देहात की बहनों द्वारा अमरपुरकाशी स्थित मधुबन गौशाला पर शस्त्र पूजन का कार्यक्रम आयोजित किया गया।
कार्यक्रम में मातृशक्ति विश्व हिंदू परिषद मुरादाबाद देहात की जिला प्रमुख राधा दीदी ने उपस्थित बहनों को संबोधित करते हुए कहा कि मातृशक्ति और दुर्गा वाहिनी की बहनों द्वारा प्रत्येक वर्ष नव दुर्गा में शस्त्र पूजन का कार्यक्रम किया जाता है। हमारी सनातन संस्कृति में महिलाओं को बहुत उच्च स्थान प्राप्त है। मातृशक्ति और दुर्गा वाहिनी में बहनों को आत्मा सुरक्षा के प्रति जागरुक और प्रशिक्षित किया जाता है। राधा दीदी ने कहा कि महिलाओं को कभी अपने को कमजोर नहीं समझना चाहिए । हमारी भारत भूमि पर सीता, सावित्री ,रानी लक्ष्मीबाई, दुर्गावती आदि जैसी अनेक वीरांगना हुई है। हमें अपनी बहन बेटियों को संस्कार वान बनाना चाहिए जिससे कि कोई दुष्ट प्रवृत्ति का व्यक्ति हमारी बेटियों को लव जिहाद में ना फसा सके। हम सबको बहुत गर्व होना चाहिए कि हम एक सबसे प्राचीन और महान संस्कृति का भाग हैं। हमारी बेटियों को संस्कार के साथ साथ शस्त्र चलाना भी आना चाहिए जिससे समय पड़ने पर हमारी बहन बेटियां दुष्टों का भली-भांति सामना कर सकें।
कार्यक्रम में शिवि सक्सेना, कलावती देवी, शिवानी सिंह, प्रियंका सक्सेना, प्रतिभा सिंह आदि उपस्थित रही।

हमारी बेटियों को संस्कार के साथ साथ शस्त्र चलाना भी आना चाहिए-राधा दीदी

बिलारी । मातृशक्ति और दुर्गा वाहिनी विश्व हिंदू परिषद मुरादाबाद देहात की बहनों द्वारा अमरपुरकाशी स्थित मधुबन गौशाला पर शस्त्र पूजन का कार्यक्रम आयोजित किया गया।
कार्यक्रम में मातृशक्ति विश्व हिंदू परिषद मुरादाबाद देहात की जिला प्रमुख राधा दीदी ने उपस्थित बहनों को संबोधित करते हुए कहा कि मातृशक्ति और दुर्गा वाहिनी की बहनों द्वारा प्रत्येक वर्ष नव दुर्गा में शस्त्र पूजन का कार्यक्रम किया जाता है। हमारी सनातन संस्कृति में महिलाओं को बहुत उच्च स्थान प्राप्त है। मातृशक्ति और दुर्गा वाहिनी में बहनों को आत्मा सुरक्षा के प्रति जागरुक और प्रशिक्षित किया जाता है। राधा दीदी ने कहा कि महिलाओं को कभी अपने को कमजोर नहीं समझना चाहिए । हमारी भारत भूमि पर सीता, सावित्री ,रानी लक्ष्मीबाई, दुर्गावती आदि जैसी अनेक वीरांगना हुई है। हमें अपनी बहन बेटियों को संस्कार वान बनाना चाहिए जिससे कि कोई दुष्ट प्रवृत्ति का व्यक्ति हमारी बेटियों को लव जिहाद में ना फसा सके। हम सबको बहुत गर्व होना चाहिए कि हम एक सबसे प्राचीन और महान संस्कृति का भाग हैं। हमारी बेटियों को संस्कार के साथ साथ शस्त्र चलाना भी आना चाहिए जिससे समय पड़ने पर हमारी बहन बेटियां दुष्टों का भली-भांति सामना कर सकें।
कार्यक्रम में शिवि सक्सेना, कलावती देवी, शिवानी सिंह, प्रियंका सक्सेना, प्रतिभा सिंह आदि उपस्थित रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published.